खाला को लंड दिखाया

सभी कहानी पढनेवाले दोस्तों को शब्बीर का सलाम. मैं कानपुर से हूँ और अभी अपनी मास्टर्स के लिए पढाई कर रहा हूँ. मैं कोलेज के दिनों में बहुत सब लड़कियों के साथ सेक्स कर चूका हूँ. मैं 23 बरस का हूँ. लम्बाई मेरी 5 फिट और 10 इंच हे. पर्सनालिटी डायनेमिक हे और लंड मेरा लम्बा हे पुरे 7 इंच का और मोटाई में 3 इंच हे.

मैं खुद भी हिंदी सेक्स की कहानियां पढता हूँ. और आज अपने जीवन के एक अनुभव को आप लोगों के लिए लिख रहा हूँ. आज आप को मैं मेरी और अपनी खाला (यानी की मौसी) के सेक्स अनुभव के बारे में लिख रहा हूँ.

अभी सुबह उठ के ब्रश ही कर रहा था की मुझे मेरी अम्मी ने बोला की उनकी ममेरी बहन यानी की मेरी खाला रुबीना आ रही थी हमारे वहां पर. रुबीना खाला के शोहर की डेथ हो गई थी और वो एक विधवा थी. उनकी शादी के कुछ महीनो में ही एक कार एक्सीडेंट में खालू की मौत हो गई थी. शाम को जब वो आई तो मैंने ही उन्के लिए डोर खोला था. और मैंने उन्हें देखा तो बस देखता ही रह गया!

उम्र में मेरे से 3-4 साल बड़ी थी बस और शक्ल से लगता नहीं था की वो एक विधवा हे. लम्बाई करीब 5 फिर और ऊपर 5 इंच . फिगर एकदम सुडोल था और श्याम रंग था लेकिन वो श्याम होने के बावजूद भी एकदम सेक्सी लग रही थी. मेरी बहुत गर्लफ्रेंड रही हे अपनी लाइफ में और वो किसी से कम नहीं थी. मेरी उन्हें देख के उन्हें अपना बना लेने की इच्छा इसीलिए जागृत हो गई थी. वो हमारे घर कुछ दिनों के लिए आई थी.

एक हफ्ते के बाद मेरे अब्बा के एक दोस्त के वहां पर हम लोगो को शादी में जाना था. मैं कुछ सोच के कहा मैं नहीं आऊंगा मुझे काम हे. मैं जानता था की खाला नहीं जायेगी क्यूंकि वो लोग उसके लिए अजनबी जो थे.

घर के सब लोग शादी में चले गए थे और घर में अब मैं और मेरी खाला ही थे. दुसरे दिन से मेरे दिमाग में खाला को चोदने के अलग अलग प्लान चलने लगे थे. जब वो मेरे सामने घर के काम काज करने के लिए आती थी तो उसके उभरते हुए बदन को देख के दिल में वासना के शोले भडक जाते थे. उन्के सेक्सी बदन के बारे में सोचते हुए मैं बाथरूम के अन्दर अपने लंड को हिला लेता था. कैसे खाला की चूत मारने को मिले उसकी गुत्थी सुलझ नहीं रही थी.

फिर मैंने खाले के साथ बहुत सब बातचीत चालु कर दी. मैं उन्हें जोक्स कह के हंसाता था और उन्हें भी मेरी कम्पनी पसंद आने लगी थी. दो तिन दिन में तो हम लोग करीब हो गए थे. अब मेरे पास सिर्फ 4 दिन बचे थे खाला की चूत में अपने लंड को देने के लिए. क्यूंकि उसके बाद तो घर वाले शादी से वापस हो जाने थे.

खाला के साथ मस्ती मजाक मैंने बढ़ा दिया था. मैं मस्ती में उन्के ऊपर एक लोटा पानी डाल देता था कभी, और उन्के अन्दर की ब्रा मेरे को दिख जाती थी और बूब्स का एक बड़ा हिस्सा भी. मैं दिन में ज्यादा से ज्यादा समय उन्के पास ही बिताता था. और उन्के बदन से एक अलग ही मोहित करनेवाली खुशबू आती थी. मैं अब पक्का ठान लिया था की अब तो पहल करनी ही होगी वरना सब आ गए तो खाला सिर्फ बाथरूम में और खयालो में चुदेगी!

एक दिन इवनिंग में मैं अपने कमरे से निकला और देखा तो खाला हॉल में सीरियल देखने बैठी थी. मैं वापस अपने कमरे में चला गया और अपने लोडे को बहार निकाल के कुर्सी में बैठा. मैं जानता था की खाला कुछ देर में ही मेरे कमरे में आएगी तो मेरे लंड को जरुर देखेंगी. और ऐसा ही हुआ भी. कुछ देर में जब खाला हाथ में झाड़ू ले के आई तो उसे मेरे पेनिस के दर्शन हो गए! मैं जानता था की खाला ने अपनी लाइफ में बहुत लंड नहीं लिया हे इसलिए उसके अन्दर की वासना भी मेरे लोडे को देख के सुलग जायेगी.  मैंने उन्हें वो चीज दिखा दी थी जिसकी उन्हें शायद बरसो से तलाश थी. वो उस वक्त तो कुछ नहीं बोली. मैंने भी लंड को वापस पेंट में ले लिया.

दुसरे दिन जब वो पोछा लगा रही थी तो मैं वहां से निकला. उन्होंने मस्ती में मेरे ऊपर पानी फेंका. और मैं समझ गया की अब उसकी चूत को लंड चाहिए ही चाहिए. मैंने उस से कहा, खाला अब एक कतरा भी पानी फेंका मेरे ऊपर तो आप की खेर नहीं!

वो बोली, धमकी और मुझे!

ये कह के उसने मुझे और पानी से भिगो दिया. मैंने दौड़ के उन्हें अपनी बाहों में भर लिया और कंधे के ऊपर उठा के बाथरूम में भागा. मैंने शोवर ओन कर दिया और उसके निचे उसे खड़ा कर दिया. उसकी सलवार कमीज भिग गई और अन्दर की ब्रा पेंटी बहार से भी साफ़ दिखने लगी थी. उसके भीगे हुए बदन को देख के मेरे लंड में एक अजब सी खुमारी आ गई थी. मेरे लंड में अकड आ गई थी और वो एकदम टाईट हो गया था!

खाला ने तभी मुझे पकड़ के खिंचा और बोली, मैं अकेली नहीं भिगुंगी तुझे भी भिगो दूंगी.

मैं उन्के एकदम करीब खड़ा था और उन्के बूब्स की क्लीवेज भीगे हुए कमीज में साफ़ दिख रही थी. उनकी निपल्स ब्रा में कडक हो चुकी थी और उसका आकार भी बना हुआ था. वो मेरे ऊपर पानी फेंक रही थी. मैंने उन्हें कस के ऐसे पकड़ा की मेरा हाथ उन्के बूब्स पर था. वो छुडवाने के लिए ट्राय कर रही थी लेकिन मेरी पकड़ मजबूत थी. अब मेरे अंदर का सब्र जवाब दे चूका था और मैंने खाला को पकड़ के एक किस कर ली उन्हें! वो भी मेरे मकसद को जान चुकी थी इसलिए उसके अन्दर थोड़ी सी घबराहट आई, या फिर उसने घबराने की एक्टिंग की! पर अब मैं कहा पीछे हटने वाला था. उसके भीगे हुए बदन के ऊपर हाथ फेरते हुए जब मैंने उसकी चूत को टच किया तो खाला की जबान बहार आ गई उसके होंठो पर. मर्द का टच बहुत सालों बाद मिला था शायद उसकी चूत को. मैंने भीगे हुए ही उसे उठाया, और बहार ला के तोवेल से उसका बदन साफ़ किया. वो कुछ भी नहीं कह रही थी और मैं जो कर रहा था उसे पथ्थर के जैसे करने दे रही थी. मैंने खाला को बिस्तर में डाल दिया.

अब मैंने उनकी कमीज के बटन खोले. वो आँखे बंद कर गई. अन्दर की ब्रा देख के मेरे लंड में आग सुलग उठी. क्या टाईट बूब्स थे उन्के! मैंने कमीज पूरी निकाली और फिर हुक खोल के ब्रा भी. खाला के निपल्स काले थे और एकदम मोटे मोटे. मैंने धीमे से एक चुम्मी दे दी खाला की निपल पर और जैसे उसकी तो जान ही निकल गई. मैंने फिर खाला की सलवार का नाडा खोला और उसकी सलवार को निचे खिंचा. खाला ने अपनी पेंटी के ऊपर हाथ रख के चूत को छिपा लिया. लेकिन अब वो सब व्यर्थ था! मैंने पेंटी को निचे खिंचा और उनकी पांवरोटी के जैसी फूली हुई चूत को देख लिया. खाला की चूत के ऊपर हलके हलके बाल थे, रोये वाले.

खाला की चूत किसी जवान लड़की के जैसी ही लग रही थी मुझे. उन्के चूत के हुस्न ने मुझे इंसान से जानवर बना दिया. मैंने एक ऊँगली को धीरे से अन्दर डाली और उस से उसको चोदने लगा. खाला तडप के सिसकियाँ लेने लगी थी. मैं निचे को झुका और ऊँगली के साथ साथ अपनी जबान को भी खाला की चूत में डाली. वो जोर जोर से सीत्कार करने लगी थी. मैंने चूत को चाटने की स्पीड को बढ़ा दिया और पागलों के जैसे उसकी चूत को चूसने लगा. खाला ने अब मेरे माथे को पकड के अपनी चूत के ऊपर दबा दिया. और फिर एक मिनिट में ही उसकी चूत का पानी छुट गया.

मैंने खाला की चूत के रस को चख लिया था. बड़ा ही रसीला और मादक कामरस था वो! मेरा लंड अब एकदम अकड चूका था और अब वो इस चोदन के कार्य में अपना हाथ बटाने के लिए बेताब था. लंड इतना हुआ था की जल्दी उसे कुछ करने को ना मिलता तो शायद फट ही जाता!

अब मैंने अपनी इस सेक्सी खाला को टाँगे खुलवा के सीधा लिटाया. खाला ने मेरे तगड़े लंड को देखा तो वो डर सी गई. और उसने कहा, अरे बाप रे ये तो कितना बड़ा हे. तुम्हारे खालू का तो इस से आधे से भी कम था. ये अन्दर कैसे घुसेगा?

मैंने कहा, खाला घबराओ मत, इस से बड़े भी घुस जाते हे चिकनाहट की वजह से, आप को कुछ देर में जन्नत मिल जायेगी!

खाला ने कहा, जन्नत नहीं बस ये दे दे मुझे, बहुत सालों से मैं भूल गई थी की मैं औरत हूँ और तूने ही याद दिलाया मुझे वो सब. अब तेरे लंड से ही मैं अपनी इस प्यासी फुदी को रंगवाना चाहती हूँ.

मैंने निचे हो के फिर से खाला की चूत को चाटा. और फिर अपने लंड को उसके ऊपर लगा दिया. फिर खाला को लिप किस करते हुए एक धक्का लगाया. मेरा पेनिस आधे जितना खाला की चूत में घुस चूका था. और उसे बहुत दर्द हुआ और वो चीखने लगी थी. लेकिन मैंने अपने होंठो को उसके होंठो के ऊपर से हटाया ही नहीं और कुछ देर तक मैं लंड को ऐसे ही चूत में डाल के पड़ा रहा. खाला की चूत से जैसे गरम गरम भांप निकल रही थी. वो रो रही थी और उसकी तडप भी चढ़ के बोल रही थी. मैंने खाला के बूब्स मसले और फिर अपने लंड को धीरे से अन्दर बहार किया, कुछ देर में उसको भी शान्ति हुई और उसका दर्द गायब सा हो गया. अब वो अपनी चूतड़ को हिला के चोदने में मेरा साथ सपोर्ट दे रही थी. वो मुझे जोर जोर से चोदने के लिए कह रही थी. मुझे भी बहुत महनत के बाद खाला का बुर मिला था इसलिए मैं भी नहीं रुकनेवाला था. खाला उचका उचका के लंड ले रही थी और उसके मुहं से सिसकियों पर सिसकियाँ निकल रही थी.

मेरा सेक्स तो एकदम वाइल्ड हो गया था और मैं एकदम जोर जोर से उनको चोदने लगा था. मैंने उन्हें अपनी बाहों में कस के जकड़ा हुआ था. पच पच की आवाजों से कमरा गूंज गया था और हम दोनों के बदन पसीने से लथपथ हो गए थे. खाला को लंड का फुल मजा मिला था और उसके बदन की आग को शांति मिली जब मेरा लंड उसकी चूत में वीर्य की पिचकारियाँ भरने लगा था. वो भी मेरे लंड के ऊपर ही झड़ गई और हम आलिंगन बना के सो गए!

घरवालो के आने तक खाला मेरी बीवी की तरह रात में मेरे बिस्तर में सोती थी. और दिनभर भी मैं उसकी चुदाई करता रहता था. वो प्रेग्नेंट ना हो जाए उसके लिए उसने मेरे पास पिल मंगवा ली थी. खाला के साथ के उस अनुभव ने मुझे बहुत कुछ सिखा दिया. खाला के जाने के बाद मैंने उन्हें बहुत मिस किया. लेकिन फिर उन्हें चोदने का मौका मुझे आजतक नहीं मिला!

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age



widwa bhabhi ki chudaisasur ne bahu ko choda in hindiAntarvasna bua ma di jedhani Ek sathbdsm chudai kahaniबाबूजी का तेल मालिश और जबरदस्त चुदाईmom ki chekhe chudai kahanisaas sasur ki chudaiभाई का स्वप्नदोष माँ ने छुड़ायाwww.xxx.hindi.जीजा दीदी की सुहागरात की कहानीdadi sex storyjija sali ki chudai kahaniholi mai bhabhi ki chudaigand mari teacher kihindi sex kahani with photobete ne maa ki chudai ki kahanichoti behan ki chutantarvasna mc susucousin ki chudai ki storyindian sex stories insagi bahan ki chudai ki kahanimausi ki chut fadixxx sex story shadishuda bari behan ko chodaboss ki beti ko chodahindi sex story relationbua ka bhosda maine chodaantervashana comGf ne nanga kr k chodhwayaडॉक्टर ने टेस्ट के बहाने चोदाKrsthiyen sexe vediyoghar m gand mara hinde pratiksha bhabhi ki choot phadi sex storyराजस्थानी औरत कि मोटी गान्डsaas ki chootbhabhi mere samne petticoat ghumti hai hindi sex storymom ko car me chodawww kamukta com hindiboss ne mummy ko chodaDress fadkar bhan ki chudai story in hindikhel khel me chudaiGirlfriend ki tel Malish aur fir chudainikita bhabhi aur unki kamwali ke sath group sex story in hindiMonali didi ki gand mari antervasnaकामवाली को जमकर बजायाmom ko blackmail karke chodabhabhi ki gaand fadibudhi aurat ko choda hindi sex storyIndianhouse tution teacher And girl open hindi sexxxxmaa ki chudai stories hindiएक लडकी की चूंत मे लंड गुसाने से कयाgand mari bua kichudai story in gujaratilatest hindi sexstorysuhagratkichudaistory.comteacher ki chudai ki kahaniindian bhai behan sex storiesMarvari bhabhi ki tadap train me dur ki chudai story xxx new hindi storycace ni dusari si pilvaya aor cudvayachudel ki sex khabiya insano sekamukta sex story commausi ki chudai new storypudi lavda hepa chi kahaniबहिन की चडी ब्रा देखीgaram jhadap chudi kahani ajnbianty ko khet me choda rat me dar ki vajah sehindi sex story familyjija sali sex story in hindiमाँ की चुत पर गुला बजामुन रख कर खाया और चोदामाँ की सहेली चुदाई कहानीchut kai ander pisab hindisexstorybahu ki chudai dekhiमाँ और मेरा दोस्त की चुदाईchacha sushu sex stories hindiKamukta nisha in train