पापा के गेस्ट अंकल ने मेरी कुंवारी चूत में बड़ा लंड घुसा के चोदा

मेरी उम्र उस वक्त 18 की ही रही होगी. चुलबुली, नटखट और बहुत ही शरारती थी. पापा का डाइ की फेक्ट्री थी. और बहुत सब लोग हमारे घर पर आते थे. दरअसल शहर में वो अकेले ही व्यापारी थे जिसके पास कुछ ख़ास रंग की डाई मिलती थी. और दिल्ली से ले के देहरादून और साउथ से ले के ईस्ट इंडिया तक के बहुत सब लोग पापा के पास आते थे. hindipornstories.com कभी किसी किसी को पापा हमारे घर के सामने गार्डेन में बने हुए गेस्ट हाउस में ठहरा देते थे. मम्मी अक्सर नाराज होती थी लेकिन पापा को जैसे उसकी आदत हो गई थी. वैसे पापा का तर्क ये थे की वो लोग बड़े व्यापारी होते थे जिन्हें वो हमारे घर के गेस्ट हाउस में ठहराते थे और हमारा शहर छोटा होने की वजह से ढंग के होटल नहीं थे यहाँ. मम्मी की नाराजगी की एक नहीं चलती थी पापा के सामने. उन दिनों मेरा फिगर 34 30 34 का था और मैं अपनी बायोटेक की डिग्री की पढ़ाई कर रही थी. एक बॉयफ्रेंड था मेरा उसका नाम नवीन था लेकिन हम दोनों किस से आगे अभी तक बढे नहीं थे.

सन २०१३ की वो ठंडी की रातें थी. पापा शाम के करीब 7 बजे एक आदमी को घर ले के आये. वो पहले भी हमारे यहाँ आया था. उसका नाम अनवर खान था जो बनारस में बनारसी साडी का बहुत बड़ा व्यापारी था. पापा ने मम्मी को कहा की इनके लिए भी खाना बना देना. मम्मी का मुहं बिगड़ा तो था लेकिन अनवर खान के सामने उसने अपना बिगड़ा हुआ चहरा ठीक कर के उसे स्माइल ही दी. अनवर को गेस्ट हाउस में सेट कर के पापा आये तो मम्मी उनके ऊपर बिगड़ गई. क्यूंकि हमारे घर में जो कपल काम करता है इंदू और कमल वो अपने गाँव गए थे किसी रिश्तेदार की डेथ की वजह से. शाम को मम्मी ने खाना बनाया और मुझे बोला की जाओ गेस्ट रूम में अंकल को दे के आओ. मैं दो थाली में सब खाना ले के गई. दरवाजा लात से खोला तो वो खुल गया और मैं बिना ननोक किये ही अंदर चली गई. मैंने देखा की अनवर अंकल सोफे पर ही लुंगी पहन के सोये हुए थे. मैंने खाना निचे रखा और वहां से वापस ही निकलने वाली थी. लेकिन तभी मेरी नजर उनकी उठी हुई लुंगी के ऊपर पड़ी. उन्होने अंदर चड्डी नहीं पहनी थी और लुंगी एक साइड पंखे की वजह से उठ गई थी शायद अभी अभी ही. और उनका काला लंड और गोल टट्टे दिख रहे थे. ना चाहते हुए भी मैं उस लंड को देखती ही रही. hindipornstories.com

तब तक मैंने लंड सिर्फ पोर्न में ही देखा था. इसलिए आज लाइव लंड देखने को मिला तो मैं खुद को रोक नहीं पाई. लंड को देख के पता नहीं मेरे बदन में भी एकदम से क्या हुआ. मेरे अंदर के होर्मोंस जैसे खुद ही झर गए और मेरी चूत की चमड़ी अपनेआप ही चिकनी होने लगी. मेरे निपल्स में अकड आ गई और मेरा मन बार बार उस देसी लोडे को देखने को हो रहा था. मेरे मुहं में भी पानी आने लगा था. लेकिन ये सब थोडा अजीब भी था इसलिए मैंने सोचा की चलो यहाँ से खिसक जाती हूँ. उसके पहले की अनवर अंकल उठ के मुझे देखे मैंने निकलने के लिए सोचा. तभी मेरा पाँव सोफे को लगा जब मैं घुमने को हुई और उनकी आँखे खुल गई. साली मेरी निगाहें तब भी उनके लंड पर ही थी! बाप रे मैं तो पकड़ी गई थी! अंकल ने अपनी लुंगी को ठीक किया.

मैंने कहा आप के लिए खाना ले के आई हूँ अंकल.

उन्होंने कहा, थेंक यु.

और ये कह के उन्होंने लुंगी के ऊपर से अपने लंड को हाथ से दबा दिया.

मैं वहां से स्माइल के साथ निकल गई. मम्मी ने पूछा खाना दे आई. मैंने कहा हां.

और फिर मम्मी ने कहा देख मैं और तेरे पापा रीतेन अंकल के वहां पार्टी के लिए जा रहे है. पापा को वैसे मैंने बोला है ड्रिंक ना करने के लिए इसलिए जल्दी ही आ जायेंगे. मैंने कहा ठीक है मम्मी.

और फिर मम्मी पापा कार ले के चले गए. मैंने हॉल में ही बैठी टीवी देख रही थी. तभी दरवाजे के ऊपर हलकी सी दस्तक हुई. मैंने पूछा कौन तो वहां पर से अनवर अंकल की आवाज आई मैं.

मैंने दरवाजा खोला वो अंदर आये और बोले, पापा पार्टी के लिए गए क्या?

मैंने कहा हां, आप को पता था की वो जाने वाले है.

वो बोले हां मुझे बोला था उन्होंने.

फिर वो हंस के बोले मुझे लगा की तुम घर में अकेली कहीं डरो ना इसके लिए मैं कम्पनी देने के लिए आ गया.

मैंने हंस के कहा, अरे अंकल मैं नहीं डरती वरती.

वो बोले हाँ वो तो मैं देखा की तुम अब बड़ी हो गई हो!

और ये कहते हुए उन्होंने मुझे बूब्स के ऊपर देख के अपने होंठो के पर जीभ को फेर दिया. इस अंकल की वहसी नजरों से मेरा चोदन हो रहा था शायद. और पता नहीं मुझे भी ये सब अच्छा लग रहा था की वो मेरा चक्षु चोदन कर रहे थे. मैंने तब एक पतली नाईट ड्रेस पहनी थी जिसके अंदर ब्रा नहीं थी. इसलिए मेरी कडक निपल्स आकार बना रही थी टॉप के उपर जिसको अनवर अंकल बार बार देख रहे थे. hindipornstories.com

वो मेरे साथ ही सोफे में बैठ गए और टीवी देखने लगे. टीवी पर मूवी चल रही थी. जिसमे एक किस का सिन आया, कसम से मेरा अपने आप पर कंट्रोल नहीं हो रहा था. और तभी मेरी जांघ पर अंकल ने हाथ रखा और सहला के बोले तो पढाई कैसी जा रही थी.

ह्ह्ह, हां ठीक जा रही है अंकल, मेरी आवाज दब गई थी.

मैंने उनसे नजर नहीं मिलाई लेकिन उनका हाथ मेरी जांघ को टच करने से मुझे बहुत अच्छा लगा, जैसे मेरे सेक्स के आवेगों में उत्तेजना का सिंचन हो गया था!

अंकल अब हाथ को धीरे से वापस जांघ पर ले आये और सहलाने लगे. मेरी आँखे बंद हो गई और तभी दुसरे हाथ से वो मेरे टॉप को पकड के बूब्स को सहलाने लगे. मैं अपनी आँखे बंद कर के सिसकियाँ उठी. वो अभी नाईट शर्ट और पेंट में थे. उन्होंने अब मेरे हाथ को लिया और अपने लंड पर रख दिया. किसी गर्म भठ्ठी के जैसी गर्मी थी वो और लोहे के जैसी सख्ती भी!

अंकल ने मेरी टॉप के बटन खोले और मेरे बूब्स को बहार निकाल के उन्हें चूसने लगे. फिर उन्होंने मुझे कमर से पकड के अपने पास खिंच लिया. मैं खड़ी हो के उनकी गोदी में जा बैठी. अंकल का कडक लंड मेरे को चिभ रहा था. अंकल ने मुझे ऊपर किया और मेरी पेंट खोल दी. उन्होंने टॉप तो खोला ही नहीं था लेकिन सीधे ही निचे की पेंट निकाली. पेंटी भी नहीं थी इसलिए उनका लंड अब सीधे मेरी चूत को टच दे के उसे पानी पानी कर रहा था. अंकल ने मेरे बूब्स को मसले और एक हाथ से वो मेरी चूत को ऊँगली से हिलाने लगी. मेरी चूत का पानी उनकी ऊँगली में लग रहा था और वो बड़े जोर जोर से पानी को निकालने में लगे हुए थे.

और फिर अंकल ने अपने लंड को निकाल के मेरी चूत पर रखा. बाप रे मेरी ये पहली ही बारी थी जब मैं लंड लेने वाली थी मुझे पता भी नहीं था की वो दर्द कैसा होता है! अंकल ने मेरे को कंधे से पकड़ा और मेरे टॉप को साइड में कर के वहां पर किस दे दी. और फिर वो मेरे गले के ऊपर किस करने लगे. उनके गर्म गर्म होंठो की वजह से मेरी चूत में और भी पानी आ गया था. अंकल के लंड को हाथ से पकड के मैं मरोड़ रही थी और वो बड़े चुदासी आवाज निकाल रहे थे!

और फिर उन्होंने मुझे अपने लंड पर बिठाया और लंड को चूत पर रखा. और फिर चिकनी चूत में लंड घुसा दिया. फिर अचानक उन्हें कुछ यादा आया और वो बोले, पहली बार है. मैंने हां में सर हिलाया तो वो उठे और बोले चलो तुम्हारें कमरे में यहाँ गन्दा होगा!

और फिर मैं आगे आगे और वो मेरे पीछे पीछे. मैंने बेडरूम की लाईट ओन की और फिर उन्होंने मुझे बिस्तर में डाला और मेरी दोनों टांगो के बिच में आ गए. और अपना लंड चूत में डालने लगे. एक बार में फिसल गया तो उन्होंने थोड़ा थूंक लगाया और फिर लंड को अंदर किया. बाप रे कोई लोहे की सलाख को जैसे मेरी भोस में डाल दिया गया था. मैं एकदम सिहर उठी और अंकल ने मुझे कंधे से पकड़ा अभी तो आधा ही लंड घुसा था और मेरी चूत की झिल्ली फट के अंदर से खून आ गया बहार. मुझे इतना दर्द हुआ की मैं जोर जोर से रोने लगी. अंकल ने आधे लंड को वैसे ही रखा और मुझे किस करने लगे. और फिर एक मिनिट के बाद मुझे अच्छा लगा तो वो फिर से धक्के दे के पुरे लंड को अंदर डाल बैठे.

उनका लंड पूरा का पूरा लाल हो गया था. और अब मैं जान गई थी की उन्होंने सोफे पर क्यूँ नहीं चोदा मेरे को और यहाँ कमरे में क्यूँ ले आये थे!

करीब 10 मिनिट तक वो मुझे धक्के दे के चोदते रहे. और मेरे बदन पर पसीने की लहर दौड़ हुई थी. और मेरा दिल एकदम जोर जोर से धडकन के ऊपर धड़कन दे रहा था. अंकल मेरे ऊपर झुक के मेरी बुर फाड़ने में लगे हुए थे. एकदम जोर जोर से वो मुझे चोद के हांफने लगे थे मैं तो दो बार झड़ गई थी.

और फिर उनके लंड का पानी भी मेरी चूत में ही चूत गया. उन्होंने आखरी बूंद भी अंदर ही छोड़ी. और फिर वो खड़े हुए तो मैंने देखा की उनके लंड के उपर मेरी चूत का और खून के बहुत सब दाग थे. अंकल ने मुझे एक किस दिया और बोले, तुम इस छोटी उम्र में भी इतना बड़ा लंड ले सकती हो, तुम सच  में बड़ी हो के एक आला ग्रांड रांड बनोगी मेरी रानी! hindipornstories.com

फिर अंकल गेस्ट रूम में चले गए. मैंने भी मम्मी पापा के आने से पहले चद्दर को धो लिया साफ पानी से और फिर उसे वाशिंग मशीन में डाल दिया. और बाथरूम में जा के अपने बदन के ऊपर ढेर सारा पानी डाल के नहाई. मैंने नहाते हुए अणि चूत को भी ऊँगली डाल के साफ़ किया चूत में पानी की धार मारी तो अंदर से गाढ़ी क्रीम बहार आ रही थी. वो अनवर अंकल के लंड की मलाई थी जो मेरी चूत में जमी हुई थी.

अगले दिन मैंने पहले मोर्निंग में मेडिकल जा के एक पिल ले ली. ताकि मैं इस अंकल के लंड से गर्भवती ना हो जाऊं. फिर तो मेरे को चुदाई का चस्का लग गया. बॉयफ्रेंड को किस देती थी सिर्फ लेकिन अब चूत भी देती हूँ! अनवर अंकल फिर कभी नहीं आये हमारे घर, लेकिन जब भी आयेंगे उनका लंड जरुर लुंगी क्यूंकि वैसा तगड़ा लंड नहीं मिला फिर मेरे को!

Warning: This site is just for fun fictional SexyStories | To use this website, you must be over 18 years of age


Online porn video at mobile phone


trainchudaistorysadisuda didi ke ajnabe se chudaiशादीशुदा बहन भाई की चुदाईchudai ki kahani in hindi fonthindi sex kahani comholi mai bhigi chachi ka jism videos sexmaa ko jamkar chodajija sali ki chudai hindi storymaa ko blackmail kar chodaDEsi jija salu saas xxxcMummy ki chuday ki kanama hindi kahaniगांड मैं तेल लगाकर डालना beeg purnsarth ke chakkar me mammay chud gye antarvasnafamily sexy story hindihindi aex storyलिपस्टिक लौड़ा चूसने वाला सेक्सfree sex hindi storieschhoti bahan ki chutneha bhabhi ki chudaiantarvasna dadi ki chudaiचुदते हुए ऐसी गंदी गंदी बातें फैंटेसी कहानीbhabhi ki chuchi storyLavda chusne ka shokh asex storymoti aunty ki chudai kahanirasbhabhisexhindi sax storyAnita ka bhonsdamaa or didi mausi ke parivaarike chudai storiesmajdoor ka loda hindi sex storiesdidi ko terrace me chodaदादा जी अपनी पोती को सहलाते गरम हो गयी कहनीpados ki aunty ki chudaibhabhi ko holi par chodabiwi ko chudwayaneha ki chudai in hindixxx hindi kahani bhai bahin ko hooli ma palachudai ka khelहोली चुदाईincest stories in hindiMaa ka madad se padosan chachi ko chudachudai ke chutkule hindiमेरी ममता बुआ की गाँड और फुद्दीसेक्सी बुआ को छोड़ा फूफा के कहने परbhatijachudaikahaniSand ne jabrjasti choda gaav ki choti ladki ko hindi khaniphoto ke sath chudai kahanibeti ki chudai ki kahani hindi meAntrvasna.com mausi condom sesamdhan samdhe chody sex khanichota larka and aunty adla badli kar ke xxx sex storyचाची ओर दुसरा आदमी सेकस कहानीयाbudhi aurat ki chudai kahaniमाँ और कजिन को एक साथ मालिश कर चोदाneha ki chudai in hindiलंड से खून निकलासास क्र भोसरे में मेरा मोटा लौरा चाहिएbhai ne choda raat koapni sagi bahan pooja ki chudai kahani 2016जबरदस्ती बोबो पिलाने की हिन्दी sex storyजीजा सालीBus me chodai storys2019एक लड़का बहुत लड़कियों को एक साथ चोदते हुए चुदाई विडियोbibi ne bahan ko chudakar banaya yum storybahu ki chudai hindi storyhindi incest kahaniताई की चुतगुस्से में बेटे ने मेरा बुब्ब्स दबायाक्रेजी सेक्स स्टोरी बहन भांजी भतीजी/boss-ki-biwi-ko-mujhse-chudane-ki-aadat-ho-gayi-hai/extra men lgakr behen chudi hindi sexy storyteacher ki chudai hindi sex storiesfamily chudai kahanichut marwaiSali ki gaand mari wo rone lagi